national grievance services


केवल ईसीआई की वेबसाइट में खोजें
फोटो गैलरी

निर्वाचन आयुक्त

 

श्री सुनील अरोड़ा       

श्री सुनील अरोड़ा ने 1 सितंबर, 2017 को भारत के निर्वाचन आयुक्तं के रूप में कार्यभार ग्रहण किया। वे राजस्थान संवर्ग के सेवानिवृत्त सिविल सेवक (भा.प्र.से., 1980 बैच) हैं। श्री अरोड़ा जी ने भारत सरकार और राज्य सरकार, दोनों स्तरों पर शासन एवं नीतिगत सुधार के क्षेत्र में अनेक पहल की हैं तथा इन्हेंन अनेक प्रमुख विभागों में नेतृत्व करने का 35 वर्षों से अधिक का अनुभव है।

श्री अरोड़ा जी ने सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय (आई. एण्ड बी.) में भारत सरकार के सचिव के रूप में कार्य किया, जहाँ उन्होंने बहुत सी पहल कीं। यदि कुछेक कार्यों का नाम लिया जाए तो डिजीटलीकरण के माध्यम से फीचर और गैर-फीचर फिल्मों का क्यूरेशन, पुन:स्थाेपन और परिरक्षण, श्याकम बेनेगल समिति के माध्येम से फिल्मम प्रमाणन कार्य की समीक्षा, फिल्मर और टेलीविज़न संस्थायन में गतिरोध को तोड़ना, एक विस्तृुत आई.एण्ड..बी. संवर्ग समीक्षा, और केबल स्पेगस का डिजीटलीकरण आदि।

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय में अपने कार्यकाल से पहले उन्होंदने तत्का लीन नवगठित कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय (एम.एस.डी.ई.) में भारत सरकार के सचिव के रूप में एक वर्ष तक कार्य किया। नए मंत्रालय के सुदृढ़ीकरण के अलावा श्री अरोड़ा ने राष्ट्रीय कौशल विकास और उद्यमिता नीति 2015 के प्रतिपादन एवं अभिकल्प़ना को मूर्त रूप दिया और 8 महीने की रिकार्ड अवधि में राष्ट्रीय कौशल विकास मिशन की स्थापना की। दोनों का ही माननीय प्रधानमंत्री जी द्वारा जुलाई 2015 में शुभारंभ किया गया था। उन्हों ने प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (पी.एम.के.वी.वाई.) की अभिकल्पेना एवं कार्यान्वीयन का नेतृत्वउ भी किया। यह कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय की एक प्रमुख कौशल प्रशिक्षण योजना है जिसका माननीय प्रधानमंत्री जी द्वारा जुलाई, 2015 में शुभारंभ किया गया था। साथ ही साथ, वे विभिन्नभ कौशलों एवं दक्षता स्तौरों को श्रेणीबद्ध करने के लिए राष्ट्री य कौशल अर्हता फ्रेमवर्क (एन.एस.क्यूा.एफ.) के कार्यान्वेयन के लिए पुरजोर रुप से लगे रहे।

श्री अरोड़ा जी ने 2000 से 2005 तक इंडियन एयरलाइंस के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक के रूप में तत्कालीन एयरलाइंस को पुनर्जीवित करने के लिए प्रशासनिक और नीतिगत सुधारों का नेतृत्व किया – जिसके प्रथम दो वर्षों के दौरान उन्हों्ने नागर विमानन मंत्रालय में संयुक्त सचिव के रूप में भी कार्य किया। इस दौरान यात्री सेवाओं और ऑन-टाइम निष्पासदन में चहुंमुखी सुधार परिलक्षित होने के अलावा, इंडियन एयरलाइंस ने कई सालों के बाद 2003-04 और 2004-05 में शुद्ध लाभ दर्ज किया। उतने ही विमानों के उपयोग से समग्र राजस्व 3700 करोड़ रुपये से बढ़कर 5100 करोड़ रुपये हो गया। संयुक्त सचिव के रूप में इन्हें सुरक्षा, भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण, घरेलू विमान परिवहन और पवन हंस इत्यादि की देखरेख करने की जिम्मेदारी सौंपी गई। इसी अवधि के दौरान संघ सरकार ने हवाई अड्डों पर सुरक्षा उद्देश्यों के लिए सी.आई.एस.एफ. को तैनात करने का महत्वपूर्ण निर्णय लिया और संयुक्त सचिव होने के नाते श्री अरोड़ा ने जमीनी स्ततर पर इस निर्णय को कार्यरूप देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

2014 में दिल्ली में कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय (एम.एस.डी.ई.) में कार्यभार ग्रहण करने से पहले, उन्होंने राजस्थान सरकार के अपर मुख्य सचिव (गृह) के रूप में कार्य किया और सिविल डिफेंस, होम गार्ड्स और जेल प्रशासन, इत्याृदि सहित प्रमुख क्षेत्रों की पॉलिसी, कार्यनीति, शासन एवं विनियमों का प्रतिपादन किया। इससे पहले, अपर मुख्य सचिव के साथ-साथ राजस्थान राज्य औद्योगिक और निवेश निगम (आर.आई.आई.सी.ओ.) के अध्यक्ष के रूप में 2005 से 2013 तक श्री अरोड़ा का ध्या.न उद्योगों पर केंद्रित था। राजस्था्न राज्यक औद्योगिक नीति के एक प्रमुख प्रस्तारवक होने के अतिरिक्त , श्री अरोड़ा विभिन्न कारपोरेट कम्प नियों जैसे बाड़मेर माइनिंग एण्ड लिग्नाइट कंपनी, महिंद्रा एस.ई.जेड. और राजस्थान स्टेट माइन्स एंड मिनरल्स लिमिटेड के बोर्ड में भी रहे हैं। उन्होंने नीमराणा (अलवर) में जापानी ज़ोन के विकास-कार्यों की देख-रेख की, जिसके परिणामस्वारूप राज्य में विभिन्न विनिर्माण इकाइयों की स्थापना होनी थी, उदाहरण के लिए होंडा। श्री अरोड़ा 2005 से 2009 तक तथा 1993 से 1998 तक राजस्थान के मुख्य मंत्री के प्रिंसिपल स्टाफ ऑफिसर भी रहे। जिलों में अपनी तैनातियों के दौरान उन्हों ने 1985 से 1993 तक धौलपुर, अलवर, नागौर और जोधपुर के कलेक्टर और जिला मजिस्ट्रेट के रूप में भी कार्य किया।

श्री अरोड़ा अप्रैल, 2016 में सेवानिवृत्त हुए, जिसके बाद उन्हें प्रसार भारती के सलाहकार के रूप में नियुक्त किया गया। इसके पश्चा्त, उन्होंउने इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ कॉरपोरेट अफेयर्स के महानिदेशक एवं मुख्यइ कार्यकारी अधिकारी के रूप में भी कार्य किया।

श्री अरोड़ा ने पंजाब विश्वविद्यालय से स्नातक और अंग्रेजी में स्नातकोत्तर की उपाधि प्राप्त की।

 
 
अन्य लिंक्स
  अधिकारियों का लॉगिन राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारियों के लिंक राष्ट्रीय मतदाता दिवस
  निर्वाचन आयोग अधिकारियों का पोर्टल डायटी एप्प स्टोर से लिंक भारत निर्वाचन आयोग मेल सेवा
  प्रेक्षकों का पोर्टल विविध सांख्यिकी सहायता
  सी ई ओे पोर्टल  /  ई सी आई लॉगिन /  परिसीमन साइट मैप
  निर्वाचन आयोग अधिकारियों के लिए निर्वाचन प्रबंधन मीडिया कॉर्नर जीनेसिस
  RTI Online Officer's login सर्वोत्तम परिपाटियों को साझा करने संबंधी पोर्टल ई-ऑफिस